Saudi Arab Bans Tablighi Jamaat इस आरोप में सऊदी अरब ने लगाया प्रतिबंध

835
तबलीगी जमात

सऊदी अरब सरकार ने सुन्नी संगठन तबलीगी जमात पर बड़ी कार्रवाई की है सऊदी अरब ने अपने देश में तबलीगी जमात की एंट्री पर बैन लगा दिया है और साथ में सरकार ने यह भी कहा कि यह संगठन आतंकवाद के दरवाजो (gates of terrorism) में से एक है|सऊदी अरब सरकार में सऊदी इस्लामी मामलों के मंत्रालय ने मस्जिदों में उपदेश को को आदेश दिया है कि वे लोगों को तबलिगही जमात के बारे में चेतावनी देना शुरू कर दे क्योंकि सरकार ने बताया कि यह संगठन समाज के लिए खतरा है। मंत्रालय ने समाज में इस संगठन से होने वाले खतरे को लेकर बताने को कहा गया है।

तबलीगी जमात का इतिहास:-

भारत में यह संगठन 1926 के करीब अस्तित्व में आया। जमात एक सुन्नी इस्लामिक संगठन है|तबलीगी जमात की स्थापना इलियास कंधालवी ने किया था। यह संगठन मुसलमानों को सुन्नी इस्लाम में लौटने और धार्मिक उपदेश देने का काम करती है । इस संगठन की पहुंच दुनिया भर के तमाम देशों में हो चुकी है|
यह संगठन कितना बड़ा है इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि दुनिया भर में इसकी 35 से 40 करोड़ सदस्य है।

तबलीग का मतलब है अल्लाह और कुरान की बात दूसरों तक पहुंचाना। वही जमात का मतलब ग्रुप है तबलीग जमात यानी मुस्लिमों में ऐसे लोगों का समूह जो मुस्लिम धर्म का प्रचार प्रसार करते हैं.

जमात क्या होती है?

उर्दू में इस्तेमाल होने वाले जमात शब्द का मतलब किसी खास मकसद इकट्ठा होने वाले व्यक्तियों का समूह होता है यह व्यक्ति तबलिगही जमात के संबंध में बात करते हैं और कुछ दिनों के लिए खुद को पूरी तरह तबलिगही जमात को समर्पित कर देते हैं|जमात का एक मुखिया होता है जिसे अमीर –ए– जमात कहा जाता है।जमात से लोग एक निश्चित समय के लिए जोड़ते हैं।इसमें एक व्यक्ति 3 दिन से लेकर 4 महीने तक यह साल भर के लिए भी शामिल हो सकते हैं|इस अवधि के समाप्त होने के बाद ही वह व्यक्ति अपने घर को लौट सकता है|

मरकज क्या होता है?

तबलीगी जमात के लोग पूरी दुनिया में फैले हुए हैं|बड़े-बड़े शहरों में उनकी एक ऐसी जगह होती है जहां जमात के सभी लोग जमा होते हैं उसी को मरकज कहा जाता है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here