पुलवामा अटैक(Pulwama Attack): 14 फरवरी 2019 घटना क्या हुआ था

858
पुलवामा अटैक(Pulwama Attack) |14 फरवरी 2019 घटना

14 फरवरी 2019 का दिन भारत के इतिहास का काला दिन माना जाता है|आखिर क्या हुआ था उस दिन और क्या घटना घटी थी उस दिन आइए जानते हैं|

पुलवामा अटैक(Pulwama Attack)-

तारीख 14 फरवरी 2019 दिन बृहस्पतिवार दोपहर के समय करीब 3:30 बजे जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय मार्ग में 78 बसो में CRPF के करीब 2500 जवानों का काफिला गुजर रहा था|दूसरे दिन की तरह ही उस दिन भी CRPF के वाहनों का काफिला अपनी धुन में जा रहा था घाटी में कई दिनों से आतंकी गतिविधियां कुछ ज्यादा ही घट रही थी| उस समय सभी जवान सतर्क थे| सड़क पर सामान्य दिन की तरह ही आवाजाही थी|
सीआरपीएफ का काफिला पुलवामा पहुंचा ही था कि सड़क के दूसरी तरफ सामने से आ रही एक कार ने CRPF के काफिले के साथ चल रही वाहनों में टक्कर मार दिया जिस कार ने टक्कर मारी थी| वह कार विस्फोटक पदार्थों से लैस था और जैसे ही सीआरपीएफ के काफिले से टकराया बड़ा धमाका हुआ जिसमें सीआरपीएफ के कई वाहनों के परखच्चे उड़ गए|

पुलवामा हमले (Pulwama Attack) Detailed List And Name Of Crpf Martyred Jawans, Gave Their Life For Country
Pulwama Attack: Detailed List And Name Of Crpf Martyred Jawans, Gave Their Life For Country :- पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवानों |

इस घटना में कई सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए| यह हमला था या कुछ और यह बात जब तक जवान समझ पाते आतंकियों ने गोलियां बरसानी शुरू कर दी इसके बाद भारतीय जवानों ने तुरंत पोजीशन ली और काउंटर फायरिंग शुरू कर दी जवानों की|इस फायरिंग को देखते हुए आतंकी वहां से भाग निकले|
धमाका इतना बड़ा था कि कुछ देर तक उस जगह पर धुआ धुआ हो गया और दुआ के हटने के बाद वहां का दृश्य इतना भयानक था कि इसे देख पूरा देश रो पड़ा पुलवामा में जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय मार्ग पर चारों तरफ जवानों के खून और मांस के टुकड़े बिखरे पड़े थे|जिसे देख किसी का भी दिल दहल जाता हादसा इतना भयानक था कि कोई भी जवान सही से पहचान में नहीं आ पा रहे थे|सभी जवान अपने साथियों की तलाश में जुट गए थे पूरे देश में हाहाकार मच गया था क्योंकि इस समय हमारे 40 बहादुर जवान शहीद हो गए थे|कई जवान तो घायल अवस्था में तड़प रहे थे|सेना ने तुरंत बचाव कार्य शुरू किया और उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया इस घटना की जांच के लिए तुरंत इन्वेस्टिगेशन की टीम वहां पहुंच गई और घटना की जांच करना शुरू कर दिया|

आदिल अहमद दार(पुलवामा अटैक आतंकी हमलावर)

इस घटना को अंजाम देने वाला आतंकी हमलावर आदिल अहमद दार था| आदिल अहमद दार उस कार को चला रहा था जिसमें विस्फोटक पदार्थ थे उसने खुद को ही हमले में उड़ा लिया था इस घटना के बाद पूरे देश में मातम छा गया|

पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैसे मोहम्मद ने इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली और कहा कि यह हमला हम ने ही करवाया है|इस बात को सुनकर भारत के सभी लोग गुस्से से बौखलाए हुए थे|
सरकार से यह मांग कर रहे थे कि इसका बदला जल्द से जल्द लिया जाए और सरकार पर दबाव बना रहे थे|इसमें सम्मिलित सभी आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया जाए सभी लोग रोड पर उतर कर पाकिस्तान के खिलाफ नारे लगा रहे थे|सरकार को आतंकियों और और उसके आका पाकिस्तान से बदला लेने के लिए कह रहे थे|

आखिरकार इस घटना को देखकर सरकार ने तुरंत फैसला लिया सेना को बदला लेने का आदेश दे दिया भारतीय वायु सेना ने पुलवामा हमले के ठीक 12 दिन बाद 26 फरवरी को पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक कर दिया इस एयर स्ट्राइक में भारतीय वायु सेना ने इतना बमबारी की कि आतंकी ठिकाने पूरी तरह से ध्वस्त हो गए इस एयर स्ट्राइक में करीब 300 आतंकवादी मारे गए इस तरह से भारतीय वायु सेना ने बदला लिया और बालाकोट में आतंकवादियों के ठिकाने को नेस्तनाबूद कर दिया और जो भी आतंकी पुलवामा अटैक में शामिल थे उस सभी को धीरे-धीरे मार गिराया|
इस तरह से भारतीय वीर सपूतों का बदला लिया गया और शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई भारत में यह जता दिया कि अगर कोई भी हमारे देश की तरफ आंख उठाकर देखता है तो उसका हाल बुरा होगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here