शेयर मार्केट क्या है? कैसे करें शेयर मार्केट में invest

share market kya hai

आज के समय में हर व्यक्ति चाहता है कि उसका पैसा जल्द से जल्द डबल हो जाए चाहे वह किसी बिजनेस में invest करें या फिर किसी बैंक में FD कराएं लेकिन व्यक्ति Share market में पैसा invest करने से थोड़ा घबराता है क्योंकि उन्हें अपने पैसे डूब जाने का भी डर रहता है और तो और उनको मार्केट की जानकारी भी नहीं होती जो लोग अपने पैसे शेयर मार्केट में invest करना चाहते हैं वह इस post को ध्यानपूर्वक पढ़ें इस पोस्ट में step by step आपको सब बताया गया है जिससे आपके सभी सवाल का समाधान मिल जाएगा और आपको (share market kya hai) शेयर मार्केट का भी ज्ञान हो जाएगा

लोग शेयर मार्केट से लाखों रुपए कमा रहे हैं लेकिन आप उन्हें देखकर invest ना करें जब तक आप को पूरा ज्ञान शेयर मार्केट के बारे what is share market in hindi में नहीं हो जाता तब तक आप शेयर मार्केट में अपने पैसे invest ना करें

शेयर मार्केट क्या होता है- what is share market in hindi

Share market या स्टॉक मार्केट (Stock market) एक ऐसी मार्केट है जहां बहुत सी कंपनियो के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं मार्केट के अनुसार के अनुसार कई चीजों में फेरबदल और उतार-चढ़ाव चलते और  शेयर के प्राइस घटते बढ़ते रहते हैं जिसके चलते इस मार्केट में कुछ लोग तो बहुत पैसा कमा लेते हैं या अपना सारा पैसा गवा देते हैं किसी कंपनी का शेयर खरीदने का मतलब है कि आपका उस कंपनी में पार्टनर बन जाना जिसके कारण उस कंपनी की ग्रोथ और उसका मुनाफा आपका मुनाफा होता है इस मुनाफे और नुकसान पर हर समय नजर रखनी पड़ती है जिससे आपको यह पता लगता रहे कि कंपनी loss में जा रही है या profit में

शेयर मार्केट में अब जितने भी पैसा लगाकर शेयर खरीदते हैं आप उसी के हिसाब से कुछ प्रतिशत के मालिक उस कंपनी के हो जाते हैं हर कंपनी की अपनी एक अलग market value होती है जिसके अनुसार उनके शेयर्स की कीमत निर्धारित की जाती है हालांकि यह हर समय बदलती रहती है जिसकी वजह से किसी का फायदा होता है तो किसी का नुकसान यह सारा काम खरीदना बेचना एक नेटवर्क के माध्यम से किया जाता है आज के समय में आप घर बैठे ही Share market के उतार-चढ़ाव पर नजर रख सकते हैं साथ ही शेर को खरीद और भेज सकते हैं

पैसे कब invest करें (शेयर्स कब खरीदे)

पैसे invest करने या शेयर खरीदने से पहले आपको इस मार्केट का काम करने के तरीको का ज्ञान होना चाहिए, इस ज्ञान में आपको मार्केट के काम करने के तरीके के साथ ही साथ यहां कैसे और कब invest किया जा सकता है और कैसी कंपनी में पैसा लगाना आपको मुनाफा दिलवा सकती है इस सब की जानकारी शामिल है जिससे आपको मुनाफा न भी हो तो आप नुकसान से भी बच सकते हैं जब आपको शेयर मार्केट के बारे में सभी जानकारी share market kya hai प्राप्त हो जाए तभी आप इस मार्केट में अपना पैसा invest करें

शेयर मार्केट में पैसे निवेश तब करना चाहिए जब आप की आर्थिक स्थिति ठीक हो जिससे भविष्य में होने वाले नुकसान से आपको खास फर्क ना पड़े क्योंकि इस मार्केट में पैसा लगाना एक रिस्क  काम होता है जरूरी नहीं है कि आपका नुकसान ही होगा अगर आप सोच समझकर मार्केट को देखकर पैसा लगाते हैं तो आप  profit भी अधिक से अधिक कमा सकते हैं इस मार्केट में आप थोड़ा थोड़ा पैसा इन्वेस्ट करना शुरू करें और जब आपका knowledge और experience  बढ़ेगा share market kya hai में वैसे-वैसे आप धीरे-धीरे अपने इन्वेस्ट को बढ़ाने का जोखिम उठा सकते हैं

जिस भी कंपनी के शेयर आप खरीदते हैं उस कंपनी की आपको पूरी information होनी चाहिए जिससे आपको यह पता लगे कि वह कंपनी फ्रॉड तो नहीं है या loss  में तो नहीं चल रही है जिससे आप भारी नुकसान से भी बच सकते हैं शेयर खरीदने से पहले आपको इस फील्ड का पूरा ज्ञान होना आवश्यक है और आप हर समय मार्केट की गतिविधियों पर नजर रखें ताकि आपको पता चले कि मार्केट में क्या चल रहा है जिस भी कंपनी की आप शेयर खरीदते हैं उससे पहले उस कंपनी का growth graph देखकर ही जोखिम उठा सकते हैं 

शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं

आइए जानते हैं कि शेयर बाजार share market kya hai में आप पैसे कैसे लगा सकते हैं शेयर मार्केट में शेयर खरीदने के लिए आपको एक डीमैंट अकाउंट बनाना पड़ता है कैसे बना सकते हैं अपना डिमैट अकाउंट आइए जानते हैं

1st step

आप किसी भी broker के पास जाकर अपना Demat account खुलवा सकते हैं डिमैट अकाउंट क्या होता है Demat account मैं शेयर के पैसे रखे जाते हैं अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करते हो तो आपका डिमैट अकाउंट होना बहुत ही जरूरी है

Company को जब मुनाफा होगा तब अपने आप आपके खरीदे हुए शेयर्स  की value बढ़ेगी इसके अनुसार अगर आप शेयर्स बेचते हैं तो उसका जो अमाउंट होता है वह आपके डिमैट अकाउंट में ही आएगा फिर आप डिमैट अकाउंट से अपने saving account में धनराशि ट्रांसफर कर सकते हैं डीमैट अकाउंट आपके saving account से जुड़ा होता है डिमैट अकाउंट बनाने के लिए आपके पास एक सेविंग अकाउंट होना अनिवार्य है और आपको पैन कार्ड की कॉपी और एड्रेस प्रूफ की जरूरत होती है

2nd step

आप किसी भी बैंक में जाकर अपना डिमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं लेकिन आप किसी ब्रोकर से अपना अकाउंट खुलवाते हैं तो आपको फायदा होगा क्योंकि आपको उस ब्रोकर का अच्छा समर्थन मिलेगा क्योंकि वह आपको निवेश के लिए एक अच्छी कंपनी suggest करेगा जहां आप शेयर खरीद तथा भेज सकते हैं और अच्छा पैसा कमा सकते हैं

Good investor बनिए

आप जिस भी कंपनी के शेर खरीदते हैं तो आप उस कंपनी के हिस्सेदार बन जाते हैं आप उस कंपनी के बिजनेस में अपना पैसा invest कर रहे हैं तो उस कंपनी के बारे में सभी चीजें जान लें उसके बाद invest करें, इसे आप अपने पैसे को short term trading या फिर intraday trading पर invest करने की जगह long term invest ही पर ही invest करें

कम पूजी से शुरू करें

शुरू में आप Share market में पैसा लगाने के लिए उत्साहित रहेंगे लेकिन आप अपनी आर्थिक स्थिति को देखकर ही अपना एक बजट निर्धारित करें और तुम खुद ही सही invest start करें

शुरुआत में आप हजार रुपए प्रति महीने तक ही invest करें, क्योंकि शुरुआत में आपको शेयर मार्केट का ज्ञान कम होता है और इसमें जोखिम भी ज्यादा होता है इसीलिए शुरुआत में कम पैसे ही इन्वेस्ट करें अगर कंपू जी लगाएंगे तो आपको नुकसान भी कम होगा और ज्यादा समय तक मार्केट में बने रह पाएंगे।

Risk management

शेयर मार्केट में कंपनी के शेयर प्राइस कई तरह के फैक्टर से प्रभावित होते हैं इसीलिए कुछ कहा नहीं जा सकता है कि जो आपने शेयर चुना है वह 100  प्रतिशत मुनाफा ही देगा,

हर चीज accuracy पर निर्भर रहती हैं हो सकता है आपने एक अच्छा शेर चुनाव हो लेकिन किसी कारणवश मिस मैनेजमेंट की वजह से उस कंपनी का शेयर प्राइस गिर जाए इसीलिए रिस्क मैनेजमेंट करने के लिए आपको कम पूंजी से ही निवेश करना चाहिए

Strategy बनाए 

बेहतर शेयर select करने के लिए आपको strategy बनाना आवश्यक है आइए जानते हैं 2 strategy के बारे में

1st strategy- share market kya hai 

Fundamental analyse

  • इसमें आपको कंपनी का profit, loss और balance sheet को समझना होगा जिसके लिए आप screener उपयोग कर सकते हैं कुछ ध्यान देने वाली बातें
  • किसी भी कंपनी की सालाना sales और  profit कितनी रही है इसको analyse करना चाहिए
  •  दूसरी कंपनियों के मुकाबले उस कंपनी का price to earning कितना रहा है
  • कंपनी का मार्केट कैप कितना है हजार करोड़ से ज्यादा मार्केट कैप देने वाली कंपनी ही अच्छी होती है
  • कंपनी का कंप्यूटर कौन है क्या वह कंपनी अपने क्षेत्र में टॉप की कंपनी है
  • क्या उस कंपनी का बिजनेस आपके समझ में आ रहा है या नहीं
  • कंपनी घाटे में तो नहीं है या कर्जे में तो नहीं 

2nd strategy- share market kya hai

Technical analyse

जब हम कंपनी का डाटा समझ लेते हैं तो शेयर खरीदने से पहले हम technical analyse करते हैं technical analyse करने के लिए आप trading view का इस्तेमाल कर सकते हैं यह एक फ्री वेबसाइट है जहां आप हर listed company का चार्ट देख सकते हैं और बाकी सभी जानकारी भी चेक कर सकते हैं

आप weekly chart long term investment के लिए बहुत अच्छा होता है इसके अलावा आप dow theory का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जहां पर शेयर प्राइस,हाई प्राइस और high low बन रहा हो तो उसका मतलब है कि शेयर tend पर है

Portfolio

जब आप कोई एक शेयर नहीं खरीद कर बल्कि चार से पांच शेयर खरीदते हैं तो आप आपको पोर्टफोलियो बनाने की जरूरत पड़ती है जहां पर आप अपने शेयर्स को देख सकते हैं

Share market का ज्ञान

जो Share market में नए निवेशक होते हैं उनको शेयर मार्केट का ज्यादा ज्ञान नहीं होता है ज्ञान ना होने के कारण वह कोई भी शेयर खरीद लेते हैं जिससे उनको नुकसान का सामना करना पड़ता है इसीलिए शेयर खरीदने से पहले शेयर बाजार के बारे में ज्यादा से ज्यादा पढ़ लीजिए और कई कंपनी पर research कीजिए जिस कंपनी में निवेश करना चाहते हैं उस कंपनी का ग्रोथ देखें और इसके साथ ही शेयर मार्केट की न्यूज़ से update रहें

अलग-अलग शेयर में निवेश करें

आप मार्केट में अलग-अलग शेयर मैं ही invest करें क्योंकि इससे जोखिम की संभावना कम हो जाती है एक से ज्यादा शेयर खरीदने को हम leveraging कहते हैं एक बार में कई शेर खरीदने का फायदा यह होता है कि अगर आपको एक शेयर से नुकसान होता है तो बाकी से लाभ होने पर उस नुकसान की भरपाई आराम से हो जाती है

Share market के उतार-चढ़ाव पर नजर रखें

शेयर मार्केट में शेयर खरीदने के बाद ज्यादा काम शेयर के उतार-चढ़ाव को देखने का होता है क्योंकि जब तक आप मार्केट के उतार-चढ़ाव पर नजर नहीं रखेंगे तो आपको समझ नहीं आएगा कि कब कंपनी के शेयर को कितने दाम में खरीदना चाहिए और कितने में बेचना चाहिए अगर आप शेयर मार्केट में उतार-चढ़ाव पर नजर रखना सीख जाते हैं तो आप किसी भी company के शेयर के गिरने और बढ़ने का अनुमान लगा सकते हैं और एक अच्छा शेयर आप खरीद सकते हैं

शेयर को बेचने का समय निर्धारित करें

शेयर मार्केट में जिस तरह शेयर खरीदने के लिए आप सही समय का इंतजार करते हैं उसी तरह से किसी भी शहर को बेचने के लिए आपको सही समय निर्धारित करना चाहिए क्योंकि return पाने के लिए लालच ना करें जो समय शेयर को बेचने के लिए निहायत किया है उसी समय पर शेयर को बेचे और देखें कि किस समय आपके शेयर की value अधिक हो गई है उस समय आप अपना शेयर भेज सकते हैं

Support level क्या होता है?

सपोर्ट लेवल, चार्ट पर दर्शाया जाने वाला वो price point जहाँ ट्रेडर्स शेयर्स खरीदने के मामले में maximum demand की उम्मीद रखते हैं। जब भी किसी कंपनी के एसेट की कीमत गिरती है उसकी वापस उछाल की संभावना बढ़ जाती है जिससे ज़्यादा से ज़्यादा मुनाफा होने की संभावना बन जाती है। इसी कारण खरीदने वालो की संख्या में भी बढ़ोतरी देखने को मिलती है। मार्केट share market kya hai में घुसने के इच्छुक खरीददार के द्वारा किसी भी एसेट का support level निकाला जा सकता है।

अगर ध्यान से देखा जाए तो price point के आकार में भी बदलाव देखने को मिलता है यह प्रक्रिया over price traders के हिसाब से होती है। वहीँ इसमें ज्यादा advance version के सपोर्ट लेवल को identify करने के लिए दूसरे टेक्निकल इंडीकेटर्स और चार्टिंग टेक्नीक्स का इस्तमाल भी किया जाता है 

Resistance levelलेवल क्या होता है?

रेज़िस्टेंस लेवल, सपोर्ट लेवल से विपरीत लेवल माना गया है। ये एक तरह का price point है जहाँ stock price के ऊपर जाने की उम्मीद नहीं रहती जिसके परिणाम में मार्केट में सेलर्स यानी एसेट बेचने वालो की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिलती है और खरीदने वालो की संख्या में गिरावट आती है। वहीँ ऐसे बहुत से advanced technique हैं जिससे आप इन सभी चीज़ो को एनालाइज़ कर सही स्टेटस की पहचान कर सकते हैं जैसे resistance ecoporating beds, ट्रेंडलाइन्स और मूविंग एवरेजिज़ आदि।

Supportऔर Resistance level में अंतर

सपोर्ट और रेज़िस्टेंस किसी स्टॉक के चार्ट में, दो अलग अलग प्राइज़ पॉइंट्स होते है। जिनके विषय में जानना बहुत ही ज़रूरी होता है। 

अब सपोर्ट प्राइज़ के बारे में जान लेते हैं। Support price chart का वो प्राइज़ पॉइंट होता है, जहाँ से आगे विक्रेता के मुकाबले खरीदार की संख्या ज़्यादा होने की सम्भावना होती है, और इसलिए support price chart प्राइज़ पॉइंट से ऊपर की तरफ चढ़ने की संभावना होती है। वहीँ रेज़िस्टेंस प्राइज़ चार्ट का वो प्राइज़ पॉइंट होता है, जहाँ से आगे खरीदार के मुकाबले विक्रेता की संख्या ज्यादा होने की सम्भावना होती है, और इसलिए स्टॉक प्राइज़ रेज़िस्टेंस प्राइज़ पॉइंट से नीचे की तरफ गिरने की संभावना होती है।

Sensex क्या होता है?

सेंसेक्स हमारे भारतीय स्टॉक मार्केट का बेंचमार्क इंडेक्स है जिसकी शुरुआत 1986 में हुई थी। यह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में लिस्टेड शेयर्स के भाव में होने वाली तेज़ी और मंदी को भी बताता है। सेंसेक्स के ज़रिए ही हम इसमें लिस्टेड 30 सबसे बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन की जानकारी हासिल होती है।

NIFTY क्या होता है? 

नैशनल स्टॉक एक्सचेंज फिफ्टी (NIFTY) , नैशनल और फिफ्टी दो शब्दों से मिलकर बना हुआ शब्द है। इसको NIFTY 50 भी कहा जाता है। NIFTY, नैशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया का एक महत्वपूर्ण बेंचमार्क है। यह NSE में लिस्टेड 50 प्रमुख शेयर्स का इंडेक्स होता है। मुख्य रूप से NIFTY देश की 50 प्रमुख कंपनियों के शेयरों पर नज़र रखता है और इसमें सिर्फ वही 50 कंपनी के शेयरों को देखा जा सकता है जो लिस्टेड होती हैं।

Share market में करियर और स्कोप

अगर आप शेयर मार्केट में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आप शेयर मार्केट से जुड़े (share market kya hai) course या skill सकते हैं इसमें आपको शेयर मार्केट के बारे में बताया जाता है और पूरी जानकारी दी जाती है अगर आपको शेयर मार्केट का अच्छा ज्ञान होता है तो कोई भी company आपको job दे देगी एक अच्छी सैलरी पर

जब शेयर मार्केट का ज्ञान आपको हो जाता है तब आप खुद भी अपना पैसा invest कर सकते हैं या एक mediokar कर के रूप में भी काम कर सकते हैं जितना आपके पास इस फील्ड का experience रहेगा उतना ही आपके लिए फायदेमंद है

FAQs-

प्रश्न 1: share market क्या है ?

उत्तर: शेयर मार्केट एक ऐसा बाजार होता है जहाँ पर अलग अलग कंपनियों के शेयर ख़रीदे और बेचे जाते हैं। ये किसी भी दूसरे सामान्य बाजार की तरह होता है जहाँ पर जाकर लोग शेयर की खरीद और बिक्री का काम करते हैं।

प्रश्न 2: शेयर कैसे खरीदे जाते हैं?

उत्तर: शेयर के खरीदने और बेचने का एक ही तरीका होता है जो कि stock exchange में उपयोग किया जाता है, आप चाहे शेयर खरीदें या बेचे आपको इसके लिए डीमैट अकाउंट का उपयोग करना होगा। बिना डीमैट अकाउंट के आप न तो शेयर खरीद सकतें हैं और न ही शेयर बेच सकते हैं।

प्रश्न 3: शेयर मार्केट से पैसा कैसे कमाएं?

उत्तर: अभी के लिए, आपको शेयर बाज़ार की कुछ मूल बातों और रणनीतियों को जानना होगा। शुरुआत के लिए, यह पता लगाएं कि आप शेयरों में कितना निवेश करने के इच्छुक हैं और निवेश के लिए अपने लक्ष्य को तय करें।

प्रश्न 4: शेयर मार्केट में कम से कम कितना पैसा लगा सकते है?

उत्तर: आप एक दिन में 100 रुपये से 10,000 रुपये या यहां तक कि 20,000 रुपये भी लगा सकते हैं। लेकिन यह आपके जोखिम लेने पर निर्भर करता है। हाय risk होने के कारण यह ज़रूरी है कि आप अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार ही invest करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here